आईपीओ से पहले ओला इलेक्ट्रिक ने किया ये बड़ा बदलाव, अब नहीं रही प्राइवेट लिमिटेड कंपनी

इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपनी ओला इलेक्ट्रिक जल्दी ही आईपीओ लाने और शेयर बाजार में उतरने की तैयारी में है. इसके लिए कंपनी ने तैयारियां तेज कर दी है. आईपीओ लाने की योजना के तहत कंपनी ने अब एक बड़ा बदलाव किया है. ओला इलेक्ट्रिक इस बदलाव के बाद अब एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं रह गई है, बल्कि उसने खुद को अब पब्लिक लिमिटेड कंपनी में तब्दील कर दिया है.

बदल गया कंपनी का नाम

ओला इलेक्ट्रिक ने प्राइवेट लिमिटेड से पब्लिक लिमिटेड कंपनी में बदलने के बारे में शेयर बाजारों को खुद ही जानकारी दी. कंपनी ने इसके अलावा एक और बड़ा बदलाव किया है. अब ओला इलेक्ट्रिक का आधिकारिक नाम भी बदल गया है. पहले जहां कंपनी का नाम ओला इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्राइवेट लिमिटेड था, अब कंपनी का नाम बदलकर ओला इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड रह गया है.

टॉप पर है ओला इलेक्ट्रिक

ओला की शुरुआत एक राइड हेलिंग ऐप चलाने वाली कंपनी के रूप में हुई थी. हालांकि अब कंपनी का स्वरूप काफी बदल चुका है. ओला इलेक्ट्रिक उसकी एक सब्सिडियरी है, जिसकी गिनती टॉप की घरेलू ईवी कंपनियों में की जाती है. भारत के इलेक्ट्रिक स्कूटर के बाजार को देखें तो फिलहाल सबसे ज्यादा बाजार हिस्सेदारी पर ओला इलेक्ट्रिक ही काबिज है.

कंपनी कर रही ये तैयारियां

खबरों की मानें तो ओला इलेक्ट्रिक अपने प्रस्तावित आईपीओ को लेकर बाजार नियामक सेबी के पास इसी महीने ड्राफ्ट यानी डीआरएचपी जमा करा सकती है. कंपनी अभी ड्राफ्ट पर काम कर रही है. कंपनी अपने बोर्ड को भी नए सिरे से गठित कर रही है. बोर्ड में कई नए स्वतंत्र निदेशकों को शामिल किया जा रहा है, जिनमें एयरटेल के पूर्व सीईओ मनोज कोहली, मेन्सा ब्रांड्स के फाउंडर अनंत नारायण और योरस्टोरी की को-फाउंडर श्रद्धा शर्मा का नाम शामिल है.

मार्च 2024 तक आईपीओ

आईपीओ की तारीखों की बात करें तो बताया जा रहा है कि अगली एक तिमाही में आईपीओ को लॉन्च किया जा सकता है. कंपनी अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले मार्च में आईपीओ लेकर आ सकती है. ईटी की एक खबर में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि ओला इलेक्ट्रिक आईपीओ में 7 से 8 बिलियन डॉलर वैल्यूएशन पाने के प्रयास में है.