बहनों के लिए हर साल 16 हजार करोड़

 

गंजबासौदा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का हुआ भव्य स्वागत

भोपाल, 19 सितम्बर | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना ने प्रदेश की 1.32 करोड़ बहनों के परिवारों को राहत दी है। परिवार की छोटी-छोटी जरूरतों के लिए बहनों को चिंता नहीं करनी पड़ती। इस योजना में क्रमश: राशि बढ़ती जाएगी। बहनों की आँखों में आंसू नहीं होंगे। उन्हें इस योजना के माध्यम से सम्मान देने का कार्य भी किया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह आज विदिशा जिले के गंजबसौदा में आम नागरिकों को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम को गृह, जेल एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने भी संबोधित किया। इस मौके पर विधायक लीना जैन के अलावा विदिशा जिले के अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे। गंजबासौदा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का पुष्पहारों से भव्य स्वागत किया गया।

टूटी टपरिया के बदले मिलेगा अपना मकान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश में वे परिवार जो प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने से छूट गए हैं, उन्हें मुख्यमंत्री जन आवास (लाड़ली बहना जन आवास) योजना का लाभ दिलवाया जाएगा। परिवारों को मुख्यमंत्री भू-आवासीय अधिकार योजना में पट्टे भी प्राप्त होंगे। आवास योजना के लिए प्रपत्र भरवाने का कार्य शुरू किया गया है। स्क्रीनिंग के बाद हितग्राहियों का चयन कर लाभ दिलवाया जाएगा।

सस्ते दाम पर रसोई गैस सिलेंडर और बढ़े हुए बिजली बिलों से राहत

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने जहाँ 200 रूपये की कमी कर रसोई गैस सिलेंडर के दाम घटाए हैं, वहीं प्रदेश सरकार ने सावन का उपहार देते हुए उज्ज्वला योजना की हितग्राही बहनों को 450 रूपए में रसोई गैस सिलेंडर दिलवाने का कार्य किया है। यही नहीं बिजली के बढ़े हुए बिलों का भुगतान भी सरकार द्वारा किया जाएगा। इसके लिए एक किलोवॉट क्षमता का विद्युत उपयोग करने वाले निर्धन परिवार पात्र होंगे।

किसानों को हर साल 12 हजार, किसानों के बेटे भी बन रहे डॉक्टर

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि किसान वर्ग के लिए राज्य सरकार ने वे सभी योजनाएं पुन: प्रारंभ कीं, जो पूर्व सरकार ने वर्ष 2019 में बंद कर दी थीं। जहाँ किसान सम्मान निधि के अंतर्गत केन्द्र और राज्य सरकार की तरफ से किसान को वर्ष में 12 हजार रूपए की राशि प्राप्त हो रही है, वहीं अब किसानों के बेटा-बेटी भी सरकारी स्कूल में अध्ययन के बाद नीट के माध्यम से एमबीबीएस पाठ्यक्रम में चयन के लिए 5 प्रतिशत आरक्षण के प्रावधान का लाभ लेकर डॉक्टर बनेंगे। इसी तरह मेडिकल और इंजीनियरिंग की हिंदी में पढ़ाई का प्रबंध किया गया है।

सिंचाई योजनाओं के अमल में तेजी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि पूर्व सरकार ने गंजबसौदा क्षेत्र सहित प्रदेश में सिंचाई योजनाओं का लाभ किसानों को नहीं दिलवाया। अब इन योजनाओं के अमल में तेजी आई है। इसी तरह कृषकों को ट्रांसफार्मर के लिए अनुदान योजना के प्रपत्र भरवाना शुरू किया जा रहा है। मध्यप्रदेश में जल जीवन मिशन का लाभ बड़ी संख्या में परिवारों को मिला है। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में अब प्रदेश के बुजुर्ग हवाई यात्राएं कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा है कि आम जनता को योजनाओं का लाभ पहुंचाने और विकास कार्यों को अंजाम देने के लिए धनराशि की कमी नहीं होती। राज्य सरकार हर वर्ग की भलाई के लिए कार्य कर सकती है। इसके लिए सरकार में बैठे लोगों के हृदय में जनता के लिए कार्य करने की तड़प होना चाहिए। कुछ करने की ललक हों तो वित्तीय बाधाएं भी आड़े नहीं आती हैं। जो लोग कहते हैं कि सरकार में कार्यों के लिए राशि नहीं हैं, दरअसल वे जनकल्याण करना ही नहीं चाहते।