हिंदुस्तान जिंदाबाद बोलने पर युवक की बेरहमी से हत्या करने वाले सभी आरोपित अब पुलिस की गिरफ्त में हैं

 

भिलाई। हिंदुस्तान जिंदाबाद बोलने पर युवक की बेरहमी से हत्या करने वाले सभी आरोपित अब पुलिस की गिरफ्त में हैं। इनमें एक अपचारी बालक भी शामिल है। आरोपितों ने मलकीत सिंह उर्फ वीरू की बड़ी ही बेरहमी से हत्या की थी। आरोपितों ने मलकीत सिंह के दोस्त ओम कुमार उर्फ पलटू को पहले लात मारी। इसके बाद उसके गले पर चाकू टिकाकर उसे घुटनों पर बैठा दिया।

इसके बाद मलकीत को जमीन पर पटक दिया और सभी आरोपित बारी बारी से उसके ऊपर चढ़कर कूदने लगे। उसकी सारी पसलियां और कमर की हड्डी टूट गई। जब मलकीत बेहोश हो गया तो सभी आरोपित वहां से भाग गए थे। उसे गंभीर हालत में खुर्सीपार के आइएमआइ अस्पताल पहुंचाया गया। जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे रामकृष्ण केयर अस्पताल रेफर कर दिया गया। जहां कुछ पहुंचने के कुछ समय बाद ही उसने दम तोड़ दिया। यह भी चर्चा है कि आरोपितों ने मारपीट की वीडियो बनाई थी लेकिन, वैसा कोई वीडियो सामने नहीं आया है।

घटना के बाद सुबह आक्रोशित लोगों ने भाजपा आर्थिक मोर्चा के जिलाध्यक्ष राजू श्रीवास्ताव के नेतृत्व में खुर्सीपार थाना का घेराव कर दिया। उसके बाद मृतक के स्वजनों के साथ ही सिख समाज और भाजपा व श्रीराम जन्मोत्सव समिति के लोगों ने उन्हें समर्थन दिया। सुबह लोगों ने नेशनल हाईवे पर चक्काजाम कर दिया था। इसके बाद सभी ने खुर्सीपार थाना के सामने ही धरना शुरू कर दिया।

सिख समाज ने मृतक के स्वजनों को 50 लाख रुपये की मुआवजा राशि और उसकी पत्नी को शासकीय नौकरी देने की मांग की है। उन्होंने 24 घंटे का समय दिया है। 24 घंटे में मांग पूरी न होने पर उन्होंने सोमवार को छत्तीसगढ़ बंद की चेतावनी दी है। समाज के साथ ही पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने भी मृतक के स्वजनों को समर्थन दिया।

शाम को वे भी खुर्सीपार पहुंचे और मृतक के स्वजनों व समाज के लोगों के साथ धरना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि जब तक मृतक के स्वजन लड़ेंगे, वे और भाजपा उनके साथ खड़ी रहेगी। चाहे उसमें कितना भी समय लगे, वे उनके साथ खुर्सीपार में ही डटे रहेंगे। स्थिति को संभालने के लिए खुर्सीपार में भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।

युकां नेता के छोटे भाई ने बोला, मृतक के साथ जो हुआ… अच्छा हुआ

मृतक मलकीत सिंह उर्फ वीरू के बड़े भाई विक्रम सिंह उर्फ विक्की की शिकायत पर पुलिस ने प्राथमिकी कर एक अपचारी समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपितों में फैजल, तसव्वुर, शुभम लहरे उर्फ बबलू और तरुण निषाद शामिल हैं।

प्रदर्शन कर रहे भाजपाइयों ने युवा कांग्रेस के भिलाई नगर विधानसभा अध्यक्ष अर्जुन शर्मा के छोटे भाई शुभम शर्मा को भी आरोपित बनाने की मांग की। इसका कारण ये है कि रात में घटना की जानकारी मिलने पर मृतक मलकीत का बड़ा भाई विक्रम उसके दोस्त ओम कुमार उर्फ पलटू के साथ खुर्सीपार आइटीआइ मैदान पहुंचा था। वहां वो उन आरोपितों की तलाश कर रहा था, जिन्होंने उसके भाई से मारपीट की थी।

घटना स्थल पर शुभम शर्मा और एक अन्य युवक बैठे मिले। विक्रम ने सभी को जानकारी दी कि शुभम ने उसे देखते ही बोला कि उसके भाई मलकीत के साथ जो हुआ, वो अच्छा हुआ। जबकि शुभम को पता था कि मलकीत से कितनी क्रूरतापूर्ण तरीके से मारपीट की गई थी। इस पर भाजपाइयों ने शुभम को भी आरोपित बनाने की मांग शुरू कर दी। इस संबंध में पुलिस को एक आवेदन भी सौंपा गया है।

सिख समाज ने दिया अल्टीमेटम, थाना के सामने शुरू किया लंगर

इस घटना को लेकर सिख समाज में भी खासा आक्रोश नजर आ रहा है। मृतक मलकीत सिंह उर्फ वीरू के पिता कुलवंत सिंह खुर्सीपार के गुरुद्वारा बेबे नानकी जी के प्रबंधक कमेटी के प्रधान हैं। इस घटना के बाद पूरा सिख समाज उनके समर्थन में आ गया है। धरने पर बैठे लोगों के लिए थाना के सामने ही लंगर लगाया जा रहा है।

समाज के लोगों ने मृतक के स्वजनों को 50 लाख रुपये मुआवजा और मृतक की पत्नी को शासकीय नौकरी की मांग शुरू कर दी है। समाज के पलविंदर सिंह रंधावा, हरपाल सिंह, जसवंत सिंह, राजेंद्र सिंह अरोरा, सुखवंत सिंह सहित अन्य लोगों ने कहा कि यदि 24 घंटे में उनकी मांग पूरी नहीं होती वे सोमवार को छत्तीसगढ़ बंद करेंगे।

उन्होंने ये भी कहा कि साजा के बिरनपुर में साहू समाज के युवक भी इसी तरह से हत्या हुई थी। सरकार ने उसके स्वजनों को मुआवजा और शासकीय नौकरी दी थी तो इस मामले में भी उन्हें वो देना ही होगा। पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय, भाजपा भिलाई के जिलाध्यक्ष बृजेश बिचपुरिया,भाजपा आर्थिक मोर्चा के जिलाध्यक्ष राजू श्रीवास्ताव ,महिला मोर्चा अध्यक्ष स्वीटी कौशिक सहित अन्य नेताओं ने भी उनकी इन मांग को समर्थन दिया है।