कांग्रेस नेता खराब तबीयत के चलते छोड़ना चाहते थे भारत जोड़ो यात्रा, मगर नहीं जा सके… क्या रही वजह

 लखनऊ 

उत्तर प्रदेश के एक कांग्रेस नेता ने मांसपेशी से जुड़ी दिक्कत होने के बावजूद 'भारत जोड़ो यात्रा' जारी रखी। यात्रा की शुरुआत के पहले सप्ताह में ही शाहनवाज मंगल आजमी को मांसपेशी संबंधी दिक्कत हो गई थी, लेकिन पत्नी से फोन पर हुई बातचीत ने उन्हें यात्रा जारी रखने के लिए प्रेरित किया। यूपी कांग्रेस के सचिव आजमी ने कहा, 'मांसपेशी से जुड़ी दिक्कत के बाद मेरे पैरों में भी तकलीफ हो गई जिसके बाद मैंने अपनी पत्नी को उसकी राय जानने के लिए फोन किया। मुझे लगा कि वह मेरी स्थिति के प्रति सहानुभूति रखेंगी। हालांकि उनका जवाब दो टूक था कि यात्रा पूरी होने तक घर वापस मत आना। यह मेरे लिए एक झटके की तरह था लेकिन उनकी  प्रतिक्रिया ने कठिनाइयों के बावजूद मेरे संकल्प को मजबूत किया।'

कांग्रेस नेता ने कहा कि गौर करने वाली बात यह थी कि उनकी पत्नी शुरू में भारत जोड़ो यात्रा में उनके शामिल होने के विरोध में थीं और उनकी दलील थी कि उनके यात्रा में जाने से उनका कारोबार और बच्‍चों की पढ़ाई प्रभावित होगी। उन्होंने कहा कि यहां तक कि यात्रा में शामिल होने से रोकने के लिए उसने आंसू भी बहाए लेकिन अंतत: मैं उन्हें मनाने में सफल हुआ और वह मान गईं।

लखनऊ निवासी कांग्रेस नेता आजमी उन भारत यात्रियों में से एक हैं जो कन्याकुमारी-से-कश्मीर तक यात्रा की पूरी दूरी तय करेंगे। उत्तर प्रदेश से 16 अन्‍य व्यक्ति भी इस यात्रा में शामिल हैं। राहुल गांधी के नेतृत्व में भारत जोड़ो पदयात्रा पिछले वर्ष 7 सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई और अब तक 10 राज्यों से गुजरते हुए 2800 किलोमीटर से अधिक दूरी तय कर चुकी है। यह यात्रा इसी महीने कश्‍मीर में समाप्त होगी। इस समय यात्रा पर विराम है और यह 3 जनवरी को फिर शुरू होगी।

3 जनवरी से यूपी में शुरू होगी यात्रा
निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक भारत जोड़ो यात्रा आगामी 3 जनवरी को गाजियाबाद के लोनी के रास्ते उत्तर प्रदेश में दाखिल होगी और लगभग 120 किलोमीटर का फासला तय करते हुए 5 जनवरी को हरियाणा के लिए निकल जाएगी। कांग्रेस से मिली जानकारी के मुताबिक यात्रा 3 जनवरी को दिल्ली के कश्मीरी गेट इलाके में स्थित हनुमान मंदिर से चलेगी और दोपहर में उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में दाखिल होगी। यात्रा बागपत जिले के मवीकलां गांव में ठहरेगी और उसमें शामिल लोग रात्रि प्रवास करेंगे। यात्रा अगले दिन शामली से होकर गुजरेगी और 5 जनवरी को हरियाणा में प्रवेश करेगी। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव आजमी ने अपना अनुभव बताते हुए कहा कि उन्हें दक्षिणी राज्यों में भी भोजन की समस्या का सामना करना पड़ा, क्योंकि वे मुख्य रूप से नारियल के तेल का उपयोग करते हैं। हालांकि, यात्रा के तेलंगाना में प्रवेश करने के बाद इसमें सुधार हुआ। आजमी ने कहा, 'मांसपेशियों और पैरों में तकलीफ के बाद मेरी चलने की गति धीमी हो गई थी लेकिन फिर सुधार हुआ और मैं अब आगे पूरे उत्साह के साथ यात्रा में रहूंगा।'