बेटी की आनी थी बारात, पिता ने उसी दिन लगा ली फांसी

  लखनऊ
     
राजधानी लखनऊ में एक पिता ने अपनी बेटी की शादी के दिन फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. बात सिर्फ इतनी थी कि उस दिन वह शराब पीकर आया था, जिसको लेकर घरवालों ने जमकर फटकार लगाई. जिससे आहत होकर उसने फांसी लगा ली. हालांकि, घरवालों के मुताबिक वह शादी के लिए हुए कर्ज से भी परेशान थे.

लखनऊ के थाना मोहनलालगंज में सुनील द्विवेदी आटा चक्की संचालक और किसान हैं. परिवार में उनकी 5 बेटियां और इकलौता बेटा अंकुर है. मृतक की चौथे नंबर की बेटी नव्या की बारात कानपुर से रविवार को आनी थी.  हालांकि, उसी दिन मृतक शराब के नशे में घर पहुंचा.

इस दौरान घरवालों ने जमकर फटकार लगाई, जिसके बाद उसने अपने कमरे में जाकर फांसी लगा ली. जानकारी तब हुई जब वह देर तक कमरे से नहीं निकले. घरवालों ने खटखटाया और खुला नहीं तो खिड़की झांककर देखा तो गमछे की मदद से छत के हुक में सुनील फांसी पर लटका हुआ था.
हालांकि, परिजनों के मुताबिक तीन बेटियों की शादी के लिए कर्ज लिया था. चौथी के लिए भी विवाह के लिए कर्ज लेना पड़ा था. इसी वजह से काफी परेशान थे. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आगे की कार्रवाई कर रही है.

उधर, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पुलिस ने एक सिरफिरे पिता ने अपनी बेटी के गले में चाकू दे मारा जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई है और फिलहाल अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है.

पुलिस के मुताबिक, गोया कालोनी में रहने वाली महिला का अपने पति से विवाद चल रहा है जिसके चलते वह अपने पति से करीब 2 साल से अलग होकर अपने मायके में रह रही है. महिला के साथ उसकी दोनों बेटियां भी रहती हैं. मायकेवालों को बोझ न लगे, इसके लिए महिला घरेलू काम करके खुद और बेटियों का भरण-पोषण भी करती है.

आरोप है कि रविवार सुबह रतन कॉलोनी में रहने वाला उसका पति अपनी ससुराल पहुंचा. लंबे समय से वह बेटियों को साथ ले जाने का दबाव भी बना रहा था. रविवार को जब वह पत्नी के मायके पहुंचा तो उसकी पत्नी काम के लिए बाहर गई हुई थी. इसी का फायदा उठाते हुए आरोपी पति ने नाबालिग बच्ची को अपने साथ ले जाने की जिद करने लगा.

बेटी ने इसका विरोध किया तो आरोपी पिता ने छुरी से बेटी की गर्दन पर हमला कर दिया. बच्ची की चिल्लाने की आवाज सुनकर उनका मामा कमरे में पहुंचा तो उसे देख आरोपी गालियां देते हुए भाग गया. परिजनों ने पीड़ित नाबालिग बालिका को इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया गया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है.