शख्स पत्नी का नहाते समय का अश्लील वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाला

  फिरोजाबाद

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में एक शख्स ने अपनी पत्नी का अपना नहाता हुआ वीडियो सिर्फ इसलिए अपलोड कर दिया, क्योंकि वह चाहता था कि फेसबुक पर उसके फॉलोवर्स की संख्या बढ़ सके. जैसे ही पत्नी को पति की इस करतूत के बारे में पता चलता तो उसने थाने में शिकायत दर्ज कराई. पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने फेसबुक अकाउंट बंद करवा दिया है.

दरअसल, फिरोजाबाद के थाना जसराना इलाके के रहने वाले एक शख्स ने एक महीने पहले ही पत्नी के नहाते समय का एक अश्लील वीडियो बनाया और उसे फेसबुक पर डाल दिया ताकि उसके फेसबुक पर फॉलोअर्स की संख्या में इजाफा हो सके, लेकिन जैसे ही पत्नी को पता लगा कि उसका पति फेसबुक पर उसके वीडियो डाल रहा है तो बवाल हो गया.

पत्नी ने तुरंत ही इसकी शिकायत थाने पर दी, जहां पुलिस ने थाना जसराना में धारा 67 (सूचना प्रोद्योगिकी संशोधन अधिनियम 2008) में मुकदमा दर्ज कर लिया. मुकदमा दर्ज होते ही संदीप ने तत्काल फेसबुक अकाउंट से वीडियो डिलीट कर अपना अकाउंट ही बंद कर दिया लेकिन तब तक बहुत सारे लोगो के पास पत्नी का वीडियो पहुंच चुका था.

पीड़िता महिला ने पुलिस को कहा कि उसका पति दिल्ली के उत्तम नगर में रहता है, वहां वह एक सर्कस में काम करता है और सोशल मीडिया पर अक्सर सक्रिय रहता है, पत्नी इस समय अपनी मां के साथ कासगंज में ही रहती है, दोनों की लव मैरिज हुई थी ,इस शादी को भी 3 साल से अधिक समय हो गया है.

महिला के अनुसार, पति ने लगभग 1 माह पहले एक वीडियो कॉल किया था जिसमें जब वीडियो कॉल आया था तब पत्नी नहाने जा रही थी, नहाते समय भी पत्नी-पति की वीडियो कॉलिंग पर बात होती रही और पति ने नहाते समय का वीडियो अपने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया. इसके बाद पत्नी का पूरा वीडियो अपने फेसबुक अकाउंट पर अपलोड कर दिया.

जैसे ही फेसबुक पर यह वीडियो अपलोड हुआ तो अचानक ही उसके फॉलोअर्स की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हो गई.पत्नी ने पहले तो अपने पति को फोन कर इस वीडियो को हटाने को कहा लेकिन जब पति ने फेसबुक से वीडियो नहीं हटाया तो उसकी शिकायत थाने में की, जिसमें पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया.

जैसे ही मुकदमा दर्ज हुआ पति ने तुरंत ही फेसबुक से उस वीडियो को हटा दिया और उस अकाउंट को भी बंद कर दिया. पुलिस अधीक्षक देहात रणविजय सिंह का कहना है कि महिला की तरफ से मुकदमा दर्ज किया गया है, दोनों पक्षों को बुलाकर बयान दर्ज किए जाएंगे, उसके बाद इस पर कार्यवाही की जाएगी.